Blogging, Digital Duniya, Technology

Signal App Kya Hai, सिग्नल ऐप के फीचर्स कैसे हैं, और हर कोई इसका उपयोग क्यों कर रहा है?

Signal App Kya hai

Last Updated on November 3, 2021 by Manoranjan Pandey

Signal App Kya Hai पूरी जानकारी हिंदी में !

आज के इस पोस्ट में हम आपको बताने जा रहे हैं की Signal App Kya hai , इसके फीचर्स कैसे हैं और हर कोई इसका उपयोग क्यों कर रहा है।  आज के समय में signal App काफी पॉपुलर हो रहा है और आपने इसके बारे में कई लोगों से या अन्य माध्यमों से सुना भी होगा। यदि आप इसके बारे में विस्तार से जानकारी चाहते हैं तो आप सही पोस्ट पढ़ रहे है। तो चलिए विस्तार में जानते है सिग्नल ऐप्प क्या है? पूरी जानकारी हिंदी में। 

 

Signal App Kya hai पूरी जानकारी हिंदी में
signal app

 

आपलोगो को तो पता ही होगा की अभी हाल ही में व्हाट्सप्प ने अपनी सिक्युरिटी और प्राइवेसी पालिसी में बदलाव किया है जिसके कारण आपको व्हाट्सप्प की तरफ से एक पॉपअप मैसेज आ रहा होगा जहाँ पर यूजर को इसपर एग्री करना होता है. एक बार आपने Agree कर लिया तो आपने उनके टर्म्स एंड कंडीशन को स्वीकार कर लिया.

 

सिग्नल ऐप् के निर्माण की शुरुआत 2013 में मॉक्सी मार्लिनस्पाइक द्वारा की गई थी लेकिन इसकी लॉन्चिंग 10 जनवरी 2018 को किया गया था।

 

Signal app भी व्हाट्सऐप और टेलेग्रामम की तरह एक मैसेजिंग ऐप है जो कि WhatsApp का एक alternative मेसेजिंग application है। सिग्नल ऐप्प को Android Devices के अलावा आप इसको ios यानि Apple  Device, मैक और विंडो डिवाइस में भी यूज़ कर सकते हैं।

 

जितने तरह का Features आपको WhatsApp में मिलते है वो सभी तरह के Features आप Signal App में भी पाएंगे। तभी तो यूजर या उपयोगकर्ता बहुत ही कम समय में सिग्नल ऐप्प को पसंद करने लगे हैं और इसकी Download भी काफी बढ़ गयी है। सिर्फ भारत में ही जनवरी-फ़रवरी 2021 में मात्र 1 महीने में करीब 45 मिलियन Downloads हुए है।

Whatsapp Ki New Privacy Policy से यूजर को क्या नुक्सान है, जिसकी वजह से लोग Signal app की ओर पलायन कर रहे हैं? 

 

Whatsaap के नए पालिसी के अनुसार आपके मैसेज या chat के Data EnCrypted नहीं रह पाएंगे यानी आपका डाटा अब सुरक्षित नहीं रहेगी. यही वजह है कि लोगों में अपनी डाटा की सुरक्षा को लेकल चिंताएं बढ़ गयी हैं

 

इसलिए हरेक व्यक्ति को ये अधिकार है कि वो अपनी Security and Privacy की रक्षा करे. और करे भी क्यों नहीं, कोई भी अपना डाटा किसी के साथ शेयर क्यों करे . लोगों की यही चिंता उनको सिग्नल ऐप्प की तरफ खींचता है जो कि Whatsapp के Alternative एप्लीकेशन के रूप में आज मार्किट में ट्रेंड कर रहा है.

 

अगर हम Whatsapp की नई Privacy Policy की बात करे तो व्हाट्सप्प का कहना है कि वो अपने यूज़र्स के प्राइवेट डेटा का इस्तेमाल अपने व्यापार को और बढ़ाने के लिए उपयोग कर सकती है। यहाँ तक की वो अपने एक और प्लेटफॉर्म फेसबुक पर भी आपका डेटा बिज़नेस के लिए इस्तेमाल कर सकती है . जबकि Whatsapp के विकल्प सिग्नल ऐप्प  का  टैगलाइन ही निजी सुरक्षा का है. Signal App का टैगलाइन है ‘Say Hello to Privacy’. ऐसे में यह उसेर्स के लिए निजी डेटा सुरक्षा का आश्वासन मिल जाता है तो निश्चित है कि इस ऐप की तरफ यूज़र्स झुकाव बढ़ेगा जो कि किसी भी यूज़र्स के लिए बहुत ज्यादा जरूरी है।

 

यही वजह है की आजकल बड़ी संख्या में उपयोकर्ता निराश हैं और वो Signal जैसे कम पॉपुलर और Telegram जैसे मैसेजिंग प्लेटफार्म पर पलायन कर रहे हैं। इन्ही घटनाक्रम के बीच दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति और Tesla के सीईओ Elon Musk ने भी एक ट्वीट कर के Signal App के इस्तेमाल करने की सलाह दे डाली है।

Elon Musk Tweet Use Signal App

Signal app Kya Hai Elon Musk Tweet use Signal
Elon Musk Tweet

लेख-सूचि

सिग्नल ऐप्प क्या है? और सिग्नल ऐप को किसने बनाया? 

Whatsapp की New Privacy पालिसी क्या है, इससे यूजर को क्या नुक्सान है ? 

सिग्नल ऐप्प के फीचर्स कैसे हैं और यह कैसे काम काम करता है ? 

 सिग्नल ऐप्प के फीचर्स कैसे हैं और यह कैसे काम काम करता है ? 

Main features Of Signal App in Hindi 

 

सिग्नल ऐप को किसने बनाया? Who is the Owner of Signal App

सिग्नल एक मैसेजिंग ऐप है, जो iPhone, iPad, Android, Windows, Mac और Linux के लिए उपलब्ध है। ऐप को Signal Foundation और Signal Messenger LLC द्वारा विकसित किया गया है और यह एक गैर-लाभकारी कंपनी है। सिग्नल ऐप को Moxie Marlinspike, American cryptographer और वर्तमान में सिग्नल मैसेंजर के सीईओ द्वारा बनाया गया था।

वहीँ सिग्नल फाउंडेशन को Whatsapp के सह-संस्थापक ब्रायन एक्टन और मारलिंस्पाइक ने बनाया था। 2017 में व्हाट्सएप को छोड़ने वाले एक्टन ने सिग्नल की मदद के लिए लगभग 50 मिलियन डॉलर कि फंडिंग लगाए हैं।

सिग्नल ऐप् (Signal App) के फीचर्स कैसे हैं, और यह कैसे काम काम करता है ? Features Of Signal App

 

Signal app kya hai ये जानने के बाद अब हम ये जानते हैं की सिग्नल ऐप्प के फीचर्स क्या क्या हैं What are the Features Of Signal App ?

 

Main features Of Signal App in Hindi 

सिग्नल एप्प के फीचर्स 

 

Signal App ke Features
Signal App Features

 

1. WhatsApp की तरह आप सिग्नल ऐप्प में भी ग्रुप बनाकर अपने दोस्तों और फैमिली के साथ Chat कर सकते हैं.

 

सिग्नल ऐप के माध्यम से आप सीधे किसी को भी ग्रुप में एड नहीं कर पाएंगे, यदि आप किसी व्यक्ति को ग्रुप में जोड़ना चाहते हैं तो आप ग्रुप ऐड प्रोसेस करेंगे, तो पहले एक नोटिफिकेशन जाएगा, फिर अगर वो चाहेंगे यानि Approve करेंगे तभी आप उन्हें अपने ग्रुप में एड कर पाएंगे। इस ऐप के माध्यम से आप ग्रुप के किसी भी Chat को Delete For Everyone के जरिए सभी मेंबर के लिए डिलीट करने का भी फीचर है।

 

2. सिग्नल app कंपनी ये दावा करती है कि आप Media File को भी अपने दोस्तों के साथ सुरक्षित गोपनीयता के साथ शेयर कर सकते है. यहाँ पर अच्छी बात यह है कि Signal कभी भी आपके डाटा को अपने सर्वर पर Copy नहीं करता है और आपकी Chatting का कोई भी डेटा अपने सर्वर पर स्टोर नहीं करती है। आप जो भी Chatting करते हैं उसकी History आपके फोन में ही save रहती है और अगर किसी कारणवश आपका फोन खराब या जाता है तो आपकी Chatting History भी खत्म हो जाएगी।

 

3. सिग्नल ऐप्प में एक और सुविधा भी है जिसे Message Disappearing फीचर कहते हैं. इस फीचर से आप प्रत्येक पर्सनल चैट के लिए Message Disappearing सेट कर सकते हैं और 5 सेकंड से एक सप्ताह तक का समय चुन सकते हैं.

3. Hide ”typing…..” Feature

Whatsapp में जब आप Chatting कर रहे होते हैं तो Typing करते समय दूसरे यूजर को ‘typing……’ लिखा हुआ आता है। Whatsapp में आप इसको हाईड नहीं कर सकते लेकिन Signal App में आपको यह सुविधा मिलती है कि आप इसको Hide कर सकते हैं। 

इसके लिए आपको Settings में जाना है फिर ▶ Privacy में जाना है और Typing indicators को off कर देना है। इससे सामने वाले को पता नहीं चलेगा कि आप Type कर रहे हैं या नहीं। लेकिन ये ापर भी लागू होता है और इससे आप भी ये नहीं जान पायेंगे की सामने वाला टाइपिंग कर रहा है या नहीं। 

.

4. Hide Blue Tick Feature – अगर आपको ब्लू टिक फीचर नहीं चाहिए यानि आप चाहते हैं की किसी को पता न चले कि आपने जो मैसेज प्राप्त किया है वो मेसेज आपने देखा है या नहीं तो आप Blue Tick को Hide कर सकते हैं। इसके लिए भी आपको Settings में जाना है फिर ▶ Privacy में जाना है और Read receipts को off कर देना है। लेकिन इससे आप भी ये नहीं देख पायेंगे की सामने वाले ने मेसेज देखा है या नहीं।

 

5. लेकिन सिग्नल का फोकस पूरी तरह से प्राइवेसी पर है. सिग्नल ऐप केवल एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शEnd to End Encryption की पेशकश करने के बारे में नहीं है, बल्कि सुविधाओं पर समझौता किए बिना, न्यूनतम उपयोगकर्ता डेटा एकत्र करने का विकल्प चुनता है।

6. Status Not Allowed

Whatsapp में Photos और Videos को आप Status में डाल सकते हैं लेकिन Signal App में यह Feature नहीं मिलता है, हो सकता है की Signal App के अगले Updates में यह Feature देखने को मिले।

मैं सिग्नल ऐप्प एंड्रॉइड को कैसे अपडेट करूं?

Automatically

Signal ऐप और अपने दूसरे ऐप्स के लिए Automatic अपडेट सेट करने के लिए:

  1. सबसे पहले Google Play store पर जाएँ
  2. इसके बाद सेटिंग को सेलेक्ट करें 
  3. Auto Update पर क्लिक करें
  4. इनमे से किसी विकल्प को चुनें
  • WIFI या मोबाइल डेटा का उपयोग करके ऐप्स को अपडेट करने के लिए किसी भी समय ऐप्स को ऑटो अपडेट करें

 

  • केवल वाई-फाई से कनेक्ट होने पर ही ऐप्स को अपडेट करने के लिए केवल वाई-फाई पर ऐप्स को ऑटो-अपडेट करें

Manually  ⇒

अपने फोन पर https://signal.org/install पर जाकर या आप सीधे अपने एंड्रॉइड फोन के लिए सिग्नल स्टोर पेज पर जाकर NEW VERSION खोजें। यदि आपके फ़ोन में कोई NEW VERSION है, तो आपको अपडेट करने का विकल्प दिखाई देगा। अपडेट का चयन करें और सिग्नल ऐप खोलें।

 

Tagged , , , , , , , , , , , , , , ,

About Manoranjan Pandey

I am a professional Travel writer and Blogger.
View all posts by Manoranjan Pandey →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *