Blogging, Success Stories, आज का विचार

23 जनवरी सुभाष चंद्र बोस जयंती, भारत के आजादी के महानायक | Subhash Chandra Bose, A real National Hero

Last Updated on January 23, 2022 by Manoranjan Pandey

“सुभाष चंद्र बोस जयंती” आज हीं के दिन पैदा हुये थे भारत के आजादी के एक महानायक

सुभाष चंद्र बोस जयंती
सुभाष चंद्र बोस जयंती

 

आज 23 जनवरी सुभाष चंद्र बोस जयंती है  आज हिन् के दिन 1897 में  पूर्वी भारत के एक राज्य ओड़िशा के कटक में एक संपन्न बंगाली परिवार में आजदी के महानायक भारत रत्न c का जन्म हुआ था. उनके पिता का नाम जानकी नाथ बोस एवं माता का नाम प्रभा देवी था. वे अपने माता-पिता के 9वीं संतान थे, उनके आलावा 8 भाई और 6 बहनें भी थीं वे कुल मिलाकर 14 भाई बहन थे. पढ़ाई में हमेशा अव्वल रहने वाले सुभाष पे विवेकानंद के विचारों का गहरा प्रभाव था.

एक धनी और प्रमुख बंगाली वकील के बेटे, सुभाष चंद्र बोस ने प्रेसिडेंसी कॉलेज, कलकत्ता (कोलकाता) में अध्ययन किया, जहाँ से उन्हें 1916 में राष्ट्रवादी गतिविधियों के लिए निष्कासित कर दिया गया, और स्कॉटिश चर्च कॉलेज (1919 में स्नातक) किया। उसके बाद उन्हें अपने माता-पिता द्वारा इंग्लैंड में कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय में भारतीय सिविल सेवा की तैयारी के लिए भेजा गया।

1920 में उन्होंने सिविल सेवा की परीक्षा पास की, लेकिन अप्रैल 1921 में, भारत में राष्ट्रवादी उथल-पुथल की सुनवाई के बाद, उन्होंने अपनी पद से इस्तीफा दे दिया और भारत वापस आ गए। अपने करियर के दौरान, विशेषकर अपने शुरुआती दौर में, उन्हें एक बड़े भाई, शरत चंद्र बोस (1889-1950), कलकत्ता के एक धनी वकील और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (कांग्रेस पार्टी के रूप में भी जाना जाता है) द्वारा राजनीतिक और भावनात्मक रूप से समर्थन किया गया।

नेताजी का योगदान और प्रभाव इतना बडा था कि कहा जाता हैं कि अगर भारत विभाजन समय नेताजी भारत में उपस्थित रहते, तो शायद भारत एक संघ राष्ट्र (Unified Nation) बना रहता और भारत का विभाजन न होता। स्वयं गाँधीजी ने इस बात को स्वीकार किया था।

यहाँ जानिये सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर उनके कुछ अनमोल विचार 

 

सुभाष चंद्र बोस जयंती
सुभाष चंद्र बोस जयंती

Subhash Chandra Bose Quotes In Hindi हिंदी में सुभाष चंद्र बोस पर कहावते 

देश के लिए सर्वोच्च बलिदान देने वाले एवं सबकुछ न्योछावर करनेवाले नेताजी सुभाष चंद्र बोस के विचार बड़े ही प्रेरणादायक हैं. आइये जानते हैं उनके कुछ विचारों को ……..

Quote- 1. Give Me Blood And I Will Give You Freedom!

In Hindi-  “तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आजादी दूंगा “

Quote- 2. Nationalism in India has… roused the creative faculties which for centuries had been lying dormant in our people.

In Hindi-भारत में राष्ट्रवाद ने एक ऐसी शक्ति का संचार किया है जो लोगों के अन्दर सदियों से निष्क्रिय पड़ी थी. 

Quote- 3Nationalism is inspired by the highest ideals of the human race, satyam [the truth], shivam 

In Hindi- राष्ट्रवाद मानव जाति के उच्चतम आदर्शों सत्यम, शिवम्, सुन्दरम से प्रेरित है.

Quote- 4. I have no doubt in my mind that our chief national problems relating to the eradication of poverty, illiteracy and disease and the scientific production and distribution can be tackled only along socialistic lines.

In Hindi- मेरे मन में कोई संदेह नहीं है कि हमारे देश की प्रमुख समस्याएं गरीबी, अशिक्षा, बीमारी, कुशल उत्पादन एवं वितरण सिर्फ समाजवादी तरीके से ही की जा सकती है.

Quote- 5. It is our duty to pay for our liberty with our own blood. The freedom that we shall win through our sacrifice and exertions, we shall be able to preserve with our own strength.

In Hindi- ये हमारा कर्तव्य है कि हम अपनी स्वतंत्रता का मोल अपने खून से चुकाएं. हमें अपने बलिदान और परिश्रम से जो आज़ादी मिले, हमारे अन्दर उसकी रक्षा करने की ताकत होनी चाहिए.

Quote- 6. No real change in history has ever been achieved by discussions.

In Hindi-  इतिहास में कभी भी विचार -विमर्श से कोई ठोस परिवर्तन नहीं हासिल किया गया है.

Quote- 6. Remember that the greatest crime is to compromise with injustice and wrong.

In Hindi- याद रखिये सबसे बड़ा अपराध अन्याय सहना और गलत के साथ समझौता करना है. 

सुभाष चंद्र बोस जयंती

 

About Manoranjan Pandey

I am a professional Travel writer and Blogger.
View all posts by Manoranjan Pandey →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *